1.      ये ना थी हमारी क़िस्मत के विसाल-ए-यार होता
अगर  और  जीते  रहते   यही   इंतेज़ार  होता

[ विसाल-ए-यार = meeting with lover]

2.      तेरे  वादे पर जिए हम  तो ये जान झूट जाना
के  ख़ुशी से  मर ना जाते  अगर एतबार होता

[ एतबार = trust/confidence]


3.      तेरी नाज़ुकी से जाना की बँधा था एहद-बूदा
कभी  तू  न तोड़  सकता  अगर  ऊस्तूवार  होता

[ एहद = oath; ऊस्तूवार = firm/determined]

4.      कोई मेरे  दिल से पूछे तेरे तीर-ए-नीमकश को
ये ख़लिश कहां से होती जो जिगर के पार होता

[ तीर-ए-नीमकश = half drawn arrow; ख़लिश = pain ]

5.      ये कहां की दोस्ती है के बने हैं दोस्त नासेह
कोई  चारसाज़  होता,   कोई  ग़म्गुसार  होता

[ नासेह = counsellor; चारसाज़ = healer; ग़म्गुसार = sympathiser]

6.      राग-ए-संग से टपकता वो लहू की फिर ना थामता
जिसे ग़म समझ रहे  हो, ये अगर शरार होता

[ राग = nerve; संग = stone; शरार = flash/gleam]

7.      ग़म अगरचे जां-गुलिस है, पे कहां बचैं के दिल है
ग़म-ए-इश्क़ गर ना होता, ग़म-ए-रोज़गार होता

[ जां-गुलिस = life threatening]

8.      कहूं किस से मैं के क्या है, शब-ए-ग़म बुरी बाला है
मुझे   क्या   बुरा   था   मरना ?  अगर  एक   बार  होता

9.      हुए मर के हम जो रुसवा, हुए क्यों ना ग़र्क़-ए-दरिया
ना  कभी जनाज़ा  उठता, ना  कहीं  मज़ार होता

[ ग़र्क़ = drown/sink]

10.     उसे  कौन  देख  सकता  की यगाना  है वो यकता
जो दूई की बू भी होती तो कहीं दो चार होता

[ यगाना = kinsman; यकता = matchless/incomparable; दूई = duality]

11.     ये   मसाइल-ए-तसव्वफ,  ये  तेरा बयां  'ग़ालिब' !
तुझे हम वली समझते, जो ना बादा-ख़्वार होता

[ मसाइल = topics; तसव्वफ = mysticism; वली = prince/friend; बादा-ख़्वार = boozer ]

 

 

Add comment


Security code
Refresh